What is IP Address and Their Types? Full Detail In Hindi



IP Address क्या है? कितने प्रकार के IP Address है और  कैसे पता करें?

IP Address

आज 2019  में किस के पास मोबाइल कंप्यूटर नही है सरे लोग अपना आधा से जादा कम मोबाइल या कंप्यूटर के माध्यम से ही कर लेते है जैसे की shopping,Bil Payment , Money ट्रान्सफर जैसे भी से कम घर बैठे कर लेते है पर आप को पता है कभी आप के साथ फ्रोड या किसी तरह का परेशानी हो जाये तो आप उसका पता कैसे लगाये गे की किस कंप्यूटर और कहाँ से आप के साथ फ्रोड हुआ है तो हम आप को बता दे की इसी IP Adress की मदत से आप आप साथ फ्रोड हुआ है उसका पता लगा सकते है IP Adress की मदत से आप किसी भी Compute मोबाइल का पता लगा सकते है और वह कहाँ से आप से साथ फ्रोड किया है और कोन सा Compute या Mobile के साथ हुआ है तो चलिए जानते IP Adress के बारे में कैसे कम करता है और उसका उसे कैसे किया जाता है  



IP Adress का Full Form = Internet Protocol Address


What is IP Address? 

IP Address एक ऐसा तनिक है जिसके मदत से आप किसी की भी Computer या Mobile की जानकारी प्राप्त कर सकते है क्युकी हर Computer  या Mobile का IP Address अलग अलग होता है जिसकी मदत से आप Computer या Mobile की पहचान होती है जिसके मदत से लोगों द्वारा इंटरनेट पर किसी Device से खोजी गयी जानकारी को Router तक पहुचने का कार्य करती  है। Router जानकारी को अपने पास  इक्कट्ठा करके उसे  IP Address  तक पहुँचा कार्य करती  है और   उसे जिससे  Command दी गयी है। उस Computer या Mobile  का पता चलता है हम बिना किसी IP Address के किसी भी  Computer  या Mobile  को Connect नहीं कर सकते। और हर Computer और Mobile में एक IP Address  रहता है जिसे उसकी पहचान  होता है और ये जरुरी है 
IP Address चार भागों में बटा गया है और यह कुछ एस प्रकार दिखता है  जैसे की  134.129.1.18  होता है  IP Address को 32 Bit Binary Digit के द्वारा  बनाया गया है जिसे याद रखना बहुत ही जायदा  मुश्किल होता है। इसी कारण से  IP Address को चार Blocks में बाँट दिया गया  है। हर एक  भाग में 0 से लेकर 255 अंक तक की संख्या होती  है और  चार Digit के बाद Point दिया गया है।



Types of  IP Address ( IP Address  कितने प्रकार के होते है )

IP Address मुख्य रूप से दो प्रकार के होते है
1) Static IP Address
2) Dynamic IP Address

Static IP Address

Static IP Address यह एक एसा  IP Address होता है जो Permanent  इंटरनेट का IP Address होता है जो कभी नही बदला जा सकता है और यह IP Address  Permanent  होता है 


Dynamic IP Address

Dynamic IP Address यह एक temporary IP Address होता है जो  इंटरनेट में समय समय पर इस IP Address  को आसानी से बदला जा सके और अपनी पहचान  को छुपया जा सके और इसे अपना Security  के लिए किया जाता है और यह जरुरी होता है 



Dynamic IP Address भी दो प्रकार के हो सकते है 

1) Private IP Address
2) Public IP Address


Private IP Address


Private IP Address का इस्तमाल  Network के Inside में किया जाता है, जो  की एक को आप probably अपने घर में Run करते है और  इस प्रकार की IP Addresses का इस्तमाल आपके Devices को Router और दुसरे Devices के साथ Communicate करने के लिए किया जाता है एक Private Network में. Private IP Addresses को Manually Set किया जा सकता  है या आपके Router के द्वारा Automatically ही Assign किया जाता है



Public IP Address


Public IP Addresses का इस्तमाल Network के outside  में किया जाता है, जिसकी  मदत से ISP द्वारा Assign किया जाता है . ये वही Main Address होता है जिसे की आपके Home या Business Network में उप्तोग करते है दुनिया भर में  Networked Devices के साथ Communicate करने के लिए ये एक सबसे  रास्ता सेवा प्रदान करता है आपके Device को ISP तक पहुँचने के लिए जिससे आप दुनियाभर के Websites और दुसरे Device के साथ Directly Communicate कर सकते हैं अपने ही Personal Computer से ही !



IP Address Version:-

IP Address के मुख्य रूप से अभी तक केवल दो ही Version बनाये गये  है–

1) IPv4 (Internet Protocol Address Version 4)

2) IPv6 (Internet Protocol Address Version 6)

IPv4 (Internet Protocol Address Version 4)


i) IP version 4 (IPv4):

Internet Protocol version 4 (IPv4) यह एक इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) का  4  version  हैं, जिसमे  नेटवर्क के डिवाइस की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाता हैं| IPv4 Address 32 बीट लंबा होता हैं और यह 4,294,967,296 Address को सपोर्ट करता 192.168.0.1 यह एक IPv4 एड्रेस का एक सामान्य उदाहरण है। सबसे आसानी से पहचाने जाने वाली आईपी रेंज 192.168.0.1 – 192.168.0.255 हैं, क्योंकि इन एड्रेस को हम घर या ऑफिस पर उपयोग करते हैं|



ii) IP version 6 (IPv6):

इंटरनेट के लोकप्रिय विकास के कारण IPv4 के संभावीत एड्रेस भविष्‍य में समाप्‍त होने कि चिंता से Internet Protocol version 6 (IPv6) का नया वर्जन विकसीत किया गया| जिसमे  यह IPv4 का नया और विकाश शील  वर्जन हैं|जिसमे  इसे IPNG (IP new generation) के रूप में भी जाना जाता है।
Internet Protocol version 6 (IPv6) 128 बिट्स लंबा होता हैं। इसलिए, यह 2 ^ 128 इंटरनेट एड्रेस को सपोर्ट करता हें, जो 340.282.366.920.938.000.000.000.000.000.000.000.000 Address के बराबर हैं| यह बहुत सारे एड्रेस हैं और वे बहुत लंबे समय तक इंटरनेट ऑपरेशनल जारी रखने के लिए पर्याप्त से अधिक हैं।
 IP Address



एक IP Adress का प्रयोग किसलिए किया जाता है ?

IP Adress का प्रयोग मुख्य रूप से एक Computer या Mobile के पहंचान के लिए किया जाता है  IP Adress की मदत से हम किसी भी Device की आसानी से पहचान कर सकते है एक IP Address  किसी  नेटवर्क डिवाइस को एक पहचान प्रदान करता है। यह पहचान पते के साथ उस Specific Physical स्थान की आपूर्ति करने वाले घर या व्यवसाय के पते के समान, एक नेटवर्क पर डिवाइस Address पते के माध्यम से एक दूसरे से भिन्न होते हैं।
इंटरनेट पर डेटा भेजते समय इसी सामान्य प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है। हालाँकि, अपने भौतिक पते को खोजने के लिए किसी का नाम देखने के लिए फोन बुक का उपयोग करने के बजाय, आपका कंप्यूटर अपने आईपी पते को खोजने के लिए एक होस्टनाम को देखने के लिए DNS सर्वर का उपयोग करता है।
उदाहरण के लिए, जब मैं अपने ब्राउज़र में www.desitechnical.in  जैसी वेबसाइट दर्ज करता हूं, तो उस पेज को लोड करने के लिए मेरा अनुरोध DNS सर्वरों को भेजा जाता है जो अपने संबंधित आईपी पते (151.101.65.121) को खोजने के लिए उस होस्टनाम (desitechnical.in) को देखते हैं। 

आप को हमारा पोस्ट कैसा लगा जरुर कमेंट में बताये और Latest Technology News, Gadgets Reviews, Tips and Tricks, Tech Facts and Tech Updates‎ के लिए हमारा Youtube चैनल से जुड़े रहे!

 Please support us Desi Technical

https://www.youtube.com/channel/UCoqZ_YASSBEFpz4DuohMO9g



No comments