Sunday, December 2, 2018

Share होता क्या है ? और आप Share में इन्वेस्टमेंट कर कैसे लखपति से Crorepati बन सकते है in Hindi

Share होता क्या है और आप Share में इन्वेस्टमेंट कर कैसे लखपति से crorepati बन सकते है in Hindi

शेयर होता क्या है चलये जाते है सबसे पहले शेयर के बारे में !



 आम भाषा में कहा जाये तो Share एक वह प्रमाण पत्र है , share वास्तव में हमारे द्वारा पूंजी के रूप में कम्पनी को दिए गए Amount का प्रमाण पत्र होता है , हम share को share  सर्टिफिकेट भी कह सकते है .


शेयर होता क्या है

शेयर  का अर्थ यह है की शेयर को हिंदी में कहते है अंश यानि हिस्सा यदि आपके पास किसी भी  company के कुछ शेयर है तो आप उस company के उतने ही हिस्से के मालिक आप बन जाते हैं साधरण शब्दों में कहा जाये तो शेयर का अर्थ यह होता है किसी भी कंपनी को शुरू या स्टार्ट करने के लिए हमे बहुत पूंजी की आवश्कता होती है जिसे किसी एक व्यक्ति के लिए जमा करना संभव नही होता है जिसे वह छोटे छोटे टुकरे में बाट कर कंपनी  शेयर बनती है और पैसा जमा करती है और वह पैसा कंपनी में लगती है और जो उस कंपनी का शेयर खरीदता है वह उस कंपनी का हिस्सेदारी या उस कंपनी के मालिक बन जाता  हैं किसी कंपनी के आप जब शेयर खरीद लेने से आपको वो सभी अधिकार प्राप्त हो जाते हैं जो शेयर होल्डर के पास आधिकार होते हैं। कोई भी व्यक्ति या आम लोग किसी भी कंपनी में अपनी क्षमता के अनुसार शेयर खरीद कर कंपनी के उतने ही हिस्से का मालिक बन सकता है जितनी उसकी क्षमता है. और कंपनी का जितना value है उस हिसाब से कंपनी  का शेयर बेच कर  profit ले सकता है

Tipes Of Share , शेयर कितने प्रकार के होते हैं

आप लोग अक्सर यह पूछते हैं  शेयर कितने प्रकार के होते हैं और इसे कौन खरीद सकता है ! आपको बता दूं कि शेयर दो प्रकार के होते हैं

शेयर कितने प्रकार के होते हैं

SHARE ( शेयर )

      1.प्रेफरेंस शेयर(Preference Share)

      2.इक्विटी शेयर (Equity Share)




1.Preference Share क्या है  !

Preference Share का अर्थ यह है की कंपनी  वह शेयर होता है जिसमें कंपनी डूब जाए या घाटे में जाए या कंपनी बड़े मुनाफा या लाभ कमा लेती है तो , इन सभी स्थिति में निवेशकों को  जो तय की गई राशी होती है ओही मिलता है और सारा लाभ कंपनी का होता है लेकिन Preference Share कोई भी ले सकता है आम लोग भी ले सकता है

2.Equity Share  क्या है !

Equity Share वह होता है जिसमें लाभ और हानि तय नही किया होता है  और  Equity Share में जो निवेशक यानी शेयर होल्डरों होते है उसी को कंपनी का मालिक माना जाता है ! और सभी को शेयर में लगाये गये पैसे के हिसाब से कंपनी में हिसेदरी बना दिया जाता है अगर आप मान लीजिए कि किसी कंपनी ने 600 Equity Share को मार्केट में बेच दिया है और उसमे से किसी निवेशक ने उसमें से 60 Equity Share को खरीद लिया है तो उसका अर्थ यह है की उस  निवेशक  उस कंपनी की 10% उस कंपनी में  हिस्सेदार होगी ! और उस कंपनी में जितना भी लाभ और हानि  होती है तो उस निवेशक का 10% का हिस्सा होगा !

कम्पनी अपने सभी कर्ज व कर्ज का ब्याज और Preference Share होल्डरों का बाकि राशी या सभी  रकम चुकाने के बाद  जो लाभ या profit बचता है Equity Share ओ सारा शेयर Equity Share होल्डरों को लाभांश के साथ मूलधन वापस कर दिया जाता है ! Equity Share होल्डरों को ही कम्पनी के सरे  मामलों में मत या बिवादो में बोलने का अधिकार होता है जो लोकतांत्रिक होता है ! जिसके पास कंपनी का सबसे ज्यादा या अधिक  शेयर होते हैं वही बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर को सुन सकते हैं ! और कंपनी का उसपे अधिक अधिकार  होता है

अगर कंपनी में अधिक या कंपनी को ज्यादा बड़ा फायदा होता है तो कंपनी के सबसे ज्यादा फायदा Equity Share होल्डरों क्या होता है ! क्यों की कंपनी में अधिकार भी होता है Equity Share का होता है अगर कंपनी में इसका उस के विपरीत कंपनी का डूब जाने या फिर बहुत अधिक  नुकसान होने पर सबसे ज्यादा नुकसान भी Equity Share होल्डरों का होता है !

आम भाषा में कहे तो आप निवेशक सिर्फ इक्विटी शेयर ही खरीद सकते हैं जिसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना चाहिए ! अब ये डीमैट अकाउंट होता क्या है कैसे खोल सकते है और ये डीमैट अकाउंट कोन कोन से काम में आता है 

नोट :-

     किसी भी कंपनी का शेयर खरीदते वकत आप को यह जनना बहुत जरुरी है की कंपनी क्या है कितनी profit में है कंपनी का और वह future में कैसा करेगा !  अगर आप ये सब नही देखते और खरीदते है तो आप को नुकसान भी हो सकता है सारी जानकारी ले कर  ही आप किसी भी कंपनी का शेयर ख़रीदे ! अगर आप को शेयर के बारे में जानकारी नही है तो पूरी जानकारी प्राप्त कर शेयर में पैसा लगाये !



  • भारतीय शेयर बाजार, (INDIAN SHARE MARKET) एक मुख्य रूप निभाती है 


INDIAN SHARE MARKET मुख्य रूप से दो है
  1. बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज)
  2. एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) 

SHARE MARKET

पुराने ज़माने में शेयर्स की खरीद और बिक्री करने के लिए हमे मार्किट यानि बाजर  में जाकर खरीदना पड़ता था लेकिन जब से कंप्यूटर और इन्टरनेट आई है तब से की शेयर ऑनलाइन मिलने लगी है आप किसी भी बैंक में  एक  DEMAT ACCOUNT की मदद से दुनिया के किसी भी कोने से आप बैठ कर शेयर  खरीद और बेच सकते है, 

जरुर देखे :-

  • What Is A Demat Account In Hindi ? And How To Open Demat Account ?

में आशा करता हूं की आप आच्छे से शेयर के बारे में समक्ष  चुके होगे शेयर होता क्या है  और आप शेयर की खरीद और बिक्र कैसे कर सकते है  

जरुर देखे :-

आगे हम शेयर के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण  बात करेंगे और आप शेयर कैसे खरीद और बेच सकते है, और DEMAT ACCOUNT   होता क्या है और आप कैसे खुलवा सकते है और खुलवाने के लिए क्या करना होता है! इन सबके बारे में भी हम अच्छे से बात करेंगे,
हमारा पोस्ट आप को कैसा लगा निचे comment में जरुर बताये ! और हमारा पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों को शेयर जरुर करे !
thank u